Trading Kya Hai | trading se paise kaise kamaye

trading kya hai

ट्रेडिंग का हिंदी में मोटा अर्थ होता है व्यापार परंतु यहां स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग की बात करेंगे। स्टॉक मार्केट में ट्रेडिंग का अर्थ है शेयरों को खरीदना और बेचना जिसके जरिए मोटा मुनाफा कमाया जाता है विस्तृत रूप से जानेंगे कि trading kya hai trading se paise kaise kamaye

ज्यादातर लोगों को लगता है कि ट्रेडिंग गेमबिलिंग है परंतु ऐसा नहीं है इट्स ऑल अबाउट लर्निंग एंड प्रैक्टिस स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग को जानने से पहले कुछ और बातें आपके लिए जानना जरूरी है ट्रेडिंग हाई रिस्क हाई प्रॉफिट होती है तो इसके लिए व्यक्ति के अन्दर maturity होना बहुत जरूरी है जिससे रिस्क को समझ सके और उसका मैनेजमेंट कर सकें।

कुछ समय पहले तक ट्रेडिंग बहुत बड़ा शब्द था चुनिन्दा लोग ही ट्रेडिंग के बारे में जानते थे और ट्रेडिंग करते थे परन्तु स्टॉक मार्केट के मोबाइल में आ जाने से यह बहुत सुलभ हो गया है हर कोई मोबाइल से ट्रेडिंग कर सकता है और पैसे भी कमा सकता है आज हम जानेगे की trading kya hai इसे कैसे सिखा जाए एवं इससे पैसा कैसे कमाया जा सकता है

trading kya hai

शेयर बाजार में ट्रेडिंग का मतलब स्टॉक को खरीदना और बेचना जैसा कि आम व्यापार में होता है परंतु इसमें एक और चीज होती है पहले शेयर बेच दो बाद में खरीद लो यानी कि सेल पोजीशन बनाना. यह सारा काम ऑनलाइन ही होता है और प्रत्येक सेकंड शेयर का भाब कम और ज्यादा होता रहता है

किसी शेयर का भाव बढेगा या कम होगा इसकी जानकारी कर पाना बहुत मुश्किल होता है जिसने स्टॉक की फ्यूचर value predict कर ली वह सोक मार्किट का राजा बन जाता है

वैल्यू पता करने के लिए स्टॉक fundamental , स्टॉक का टेक्निकल चार्ट एवं इंटरनेशनल मार्किट और करेंट सेनेरियो देखा जाता है

स्टॉक्स में, निफ़्टी 50 इंडेक्स, बैंक निफ्टी इंडेक्स, forex मे ट्रेडिंग को कर सकते है trading kya hai में अब आंगे बढ़ते है

trading kya hai इसका मतलब

ट्रेडिंग का मतलब होता है व्यापार , business. stock market trading का मतलब है शेयरों की खरीदी और बिक्री. अगर मुझे लग रहा है की किसी पर्टिकुलर शेयर का दाम बढ़ेगा तब में उसे सस्ते में खरीद लूंगा और जब महंगा हो जाएगा तब उसे बेच दूंगा. इसके उल्टा भी कर सकते है अगर लगे की किसी शेयर का प्राइस गिर सकता है तो पहले उसे बेच दो और बाद में खरीद लो पर यह एक ही दिन में करना पड़ता है. अब शायद आपको समझ आने लगा होगा की trading kya hai अब हम जानेगे की ट्रेडिंग कितने प्रकार की होती है

trading kya hai कितने प्रकार की होती है

time frame के अनुसार ट्रेडिंग को अलग अलग नाम दे दिए गए है कोई व्यक्ति ट्रेड लेने के बाद कितनी देर तक होल्ड करता है इससे ट्रेडिंग का प्रकार decide होता है तो चलिए जानते है trading kya hai ट्रेडिंग के प्रकार के बारे में

stock trading

जो भी कंपनी शेयर बाजार में लिस्टेड है उसमें हम ट्रेड कर सकते हैं यानी कि हम उसके शेयर खरीद सकते हैं और बेच सकते हैं अब हम जो शेयर खरीद रहे हैं उसे कब तक अपने पास रखना है यह ट्रेडिंग के प्रकार में आ जाता है सभी प्रकार की ट्रेडिंग को समझ लेते है।

scalp trading

जब हम कोई शेयर खरीदते हैं और उससे 1 या 2 सेकंड में बेच देते हैं तब यह scalp ट्रेडिंग हो जाती है अनुभवी ट्रेडर इस प्रकार की ट्रेड लेते हैं जिसमें वह बल्क में बहुत सारे शेयर खरीदते हैं और अगले ही सेकंड में बेच देते हैं जिसके जरिए वह मोटा मुनाफा कमाते हैं

उदाहरण के तौर पर समझ लेते हैं टाटा पावर का शेयर ₹100 का है और मुझे लग रहा है कि अगले कुछ सेकंड में बढ़ सकता है तब मैं अपनी कैपिटल अनुसार शेयर खरीद लूंगा मान लो मैंने 5000 शेयर करिए जिसके लिए मुझे ₹500000 चुकाने पड़ेंगे अब जैसे ही अगले सेकंड में शेयर 1 या ₹2 बढ़ेगा मैं तुरंत से बेच दूंगा।

1 शेयर = 100

total खरीदे शेयर 5000

पैसा लगा = 100*5000= 500000

1शेयर पर 2 रुपए का प्रॉफिट

total share 5000 कुल प्रॉफिट 5000*2= 10000

मुझे ₹10000 का प्रॉफिट हो जाएगा कुछ सेकंड में ही यानी कि 5 लाख लगाकर 2 सेकंड में 10 हजार का प्रॉफिट। पर इसके लिए बहुत अधिक अनुभव चाहिए एवं यह भी समझ आना चाहिए कि शेयर को कब खरीदना है और कब बेचना है, चार्ट रीडिंग और टेक्निकल एनालिसिस आना बहुत जरूरी है।

इंट्राडे ट्रेडिंग (INTRADAY TRADING)

इंट्राडे ट्रेडिंग में शेयर को 1 दिन के लिए खरीदा जाता है और बाजार बंद होने से पहले बेच दिया जाता है इस प्रकार की ट्रेडिंग भी एक हाई रिस्क हाई रिटर्न वाली ट्रेडिंग है

उदाहरण के तौर पर समझ लेते हैं किसी को लगता है कि किसी perticular शेयर में पूरे दिन में ₹5 का उतार-चढ़ाव होना है अगर हम दिन की सबसे कम कीमत पर शेयर खरीद लेते हैं और पूरे दिन में किसी भी समय अगर वह ₹5 बढ़ जाता है और हम बिना लालच किए बेच देते है तब हमें 1 शेयर पर 5 रुपए का लाभ हो जाएगा हो और मान लो खरीदे गए शेयर को संख्या 5000 ही है तब टोटल प्रॉफिट 25000 का हो जाएगा।

swing trading kya hai

swing trade शोर्ट टर्म ट्रेड होती है स्विंग ट्रेडिंग में शेयर को कुछ दिनों या हफ्तों के लिए खरीदा जाता है और उसमें बढ़ोतरी होने पर बेच दिया जाता है इसमें थोड़ी कम रिस्क होती है।

मान लीजिए मुझे ऐसा लग रहा है कि यस बैंक का शेयर अगले पांच 10 दिन में बढ़ सकता है तब में अपनी पोजीशन बना लूंगा और जैसे ही शेयर बढ़ता है अपनी पोजीशन काटकर प्रॉफिट बुक कर लूंगा। और अगर वह नही बढ़ता है तब उसे बेच कर कोई दूसरा शेयर खरीद लूंगा शॉर्ट टर्म के लिए ही।

लॉन्ग टर्म इन्वेस्टिंग

जब कोई शेयर लॉन्ग टर्म के लिए खरीदा जाता है तो वह ट्रेडिंग न होकर इन्वेस्टिंग हो जाती है इसमें किसी शेयर को खरीदते हैं और उसे लंबी अवधि के लिए अपने डिमैट अकाउंट में रख लेते हैं और फिर 5, 10 साल बाद बेच देते हैं तब यह इन्वेस्टिंग हो जाती है इन्वेस्टिंग सबसे अधिक सेफ है इसमें बहुत कम रिस्क होने के साथ-साथ हाई रिटर्न मिलने के चांस अधिक होते हैं क्योंकि इतनी लंबी अवधि में शेयर पांच 10 गुना हो जाता है। परंतु इसके लिए हमें क्वाquality stocks में निवेश करना पड़ता है जिसके लिए शेयर के फंडामेंटल एवं कंपनी को बारीकी से देखना उसकी पड़ताल करना होता है इन सब के बाद निवेश करना होता है।

option trading kya hai

शेयर बाजार में लिस्टेड बड़ी कंपनियां लार्ज कैप मैं ऑप्शन ट्रेडिंग होती है इसके अलावा nifty 50 एवं बैंक निफ्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग कर सकते हैं ऑप्शन ट्रेडिंग में प्रीमियम पे करके lot को खरीदते हैं nifty 50 का लॉट 50 का है, बैंक निफ़्टी का 25 का है एवं लार्ज कैप कंपनियों के लोट साइज़ अलग अलग होता है जैसे कि रिलायंस का ऑप्शन ट्रेडिंग लोट साइज 300 का है

ऑप्शन ट्रेडिंग में हमें यह देखना होता है कि बाजार ऊपर जाएगा या नीचे. अगर हम निफ्टी में ट्रेड ले रहे हैं तो हमें यह देखना होगा कि निफ्टी ऊपर जाएगी या नीचे।

अगर येसा लग रहा है कि निफ्टी 100 पॉइंट ऊपर जा सकती है तो call buy की जाती है future and option में हम जो ट्रेड लेंगे उसकी expiry होगी। यह एक्सपायरी मंथली एवं वीकली होती है

एक्सपायरी से पहले हमें अपनी पोजीशन काटनी होती है अगर निफ्टी 100 पॉइंट ऊपर गया और हमने एक लोट खरीदा है जिसका डेल्टा 0.50 है तब हमें लगभग ₹2500 का प्रॉफिट हो जाएगा एग्जैक्ट प्रॉफिट बताना मुश्किल है क्योंकि यह डेल्टा और स्ट्राइक प्राइस पर डिपेंड करता है। इसी प्रकार अगर हमें लग रहा है कि मार्केट गिरेगा तो हम put buy कर सकते हैं और निफ्टी 100 पॉइंट गिरेगा तब हमें लगभग 2500 का प्रॉफिट हो जाएगा।

online trading kya hai

स्टॉक मार्केट में अब सभी प्रकार की ट्रेडिंग ऑनलाइन हो चुकी है online trading में शेयर को ऑनलाइन ही खरीदा जाता है एवं online ही सेल कर दिया जाता है।

इससे human mistake और calculation mistake बहुत कम होती है। ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए सबसे पहले हमे डीमैट अकाउंट खुलवाना पड़ता है उसके बाद हमे डीमैट ब्रोकर की तरफ से ऑनलाइन ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म दिया जाता है जिससे हम ऑनलाइन ट्रेडिंग करते है।

आज कल तो कई ऑनलाइन डिस्काउंट ब्रोकर आ गए है जिनके app से हम 2 मिनट में kyc करके बहुत आसानी से ट्रेड कर सकते है। जैसे की upstox, zerodha, 5Paisa

ट्रेडिंग कैसे करें

चूँकि जब सब कुछ जान चुके है तो अब मुख्य चीज भी जन लेते है की ट्रेडिंग करना कैसे है

आज कल तो मोबाइल एप्लीकेशन आ चुके है जिनसे 2 मिनट में demat अकाउंट खोलकर ट्रेडिंग कर सकते है और प्रॉफिट बना सकते है और प्रॉफिट बनाना सुरु में थोडा मुश्किल हो सकता है पर असंभव नहीं है प्बरॉफिट बनाने के लिए हमें खुद के रूल्स सेट करने पड़ते हैं।

ट्रेडिंग करने के लिए सबसे पहले हमें एक डीमैट अकाउंट की जरूरत पड़ती है हम किसी भी एक अच्छे से ब्लॉक कर के पास अपना डिमैट अकाउंट खुलवा सकते हैं मैं अगर अपनी बात करूं तो मैं वापस टॉक्स पर डिमैट अकाउंट है जहां से मैं वेट करता हूं।

डिमैट अकाउंट खुलवाने के बाद अपनी आईडी पासवर्ड से लॉगिन कर लेना एवं उसमें कुछ पैसे ऐड करना है। को उस सर को चलना है जिसमें आप डेड करना चाहते हैं आप चाहे तो शेर को दो-चार दिन फॉलो कर सकते हैं उसके बाद उसमें ट्रेड ले सकते हैं

बस अब आपको शेयर खरीदना है और जब शेयर की प्राइस पड़ जाए तब उसको भेज देना

किसी भी एप्लीकेशन में शेयर को खरीदना और बेचना बहुत आसान होता है इसके लिए सबसे पहले उस शेयर का नाम लिखना है जिसको आप खरीदना चाहते हैं उसके बाद buy बटन पर क्लिक करना है कितने शेयर खरीदने हैं यह लिखना है इंट्राडे में खरीदना चाहते हैं या डिलीवरी में यह चुनना है

इंट्राडे का मतलब होता है 1 दिन के लिए वही डिलीवरी का मतलब होता है 1 दिन से अधिक के लिए 1 दिन से अधिक कितना भी हो सकता है 2 दिन 4 दिन या 20 साल के लिए

बाय बटन पर क्लिक करते ही शेयर खरीद जायेगा मार्जकेट रेट पर. जब शेयर की कीमत बढ़ जाए तब उसे आप सेल कर सकते हैं

परंतु कौन सा शेयर कब बढ़ेगा कब कटेगा यह आपको सीखना पड़ेगा इसके लिए चार्ट को सीख सकते हैं या फिर लॉन्ग टर्म के लिए इन्वेस्टिंग कर सकते हैं किसी अच्छी कंपनी में जहां आपका पैसा 100 गुना हो जाए।

trading se paisa kaise kamaye

एक और बात जो आपको भूलना नहीं है की trading आपको बहुत जल्द पैसा बाला बना सकती है ट्रेडिंग में अर्निंग पोटेंशियल बहुत अधिक है आप ट्रेडिंग के जरिए 10 हजार रुपए से एक दिन में 1 लाख या इससे अधिक भी कमा सकते है।

सुरुवात में लॉस भी हो सकता है इसके लिए पहले आपको बहुत कम पैसे से ट्रेडिंग करना चाहिए। आइए जानते है की ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए।

अगर कोई कहे की ट्रेडिंग से पैसा कमाना बहुत आसान है तब वह झूठ बोल रहा है। क्योंकि अगर ऐसा होता तो हर व्यक्ति ट्रेडिंग करके करोड़पति बन चुका होता।

trading सीख कर खूब प्रैक्टिस कर के करोड़ों कमाना सम्भव है कुछ लोगो ने ऐसा करके भी दिखा है।

रोज कमाने की न सोचे

beginners जो एक बड़ी गलती करते है वह यह है की वह रोज ट्रेड लेकर कमाने की सोचते है। मार्केट रोज कमाने का मौका आपको नहीं देता।

रोज strictly market को वॉच करना है पर ट्रेड में एंट्री नही लेना है। जब चार्ट पर आपका favorite पैटर्न बने और पूरा विश्वास को की 99% आपके फेवर में जायेगी तब ही ट्रेड ले ।

अगर एंट्री में कन्फ्यूजन है तो एंटर न करे मार्केट फिर कमाने का मौका देगा बस वॉच करते रहो।

trading kya hai इसे कैसे सीखे

trading सीखने के लिए स्टॉक मार्केट stimulator का उपयोग कर सकते है जहां वर्चुअल ट्रेड लेकर प्रैक्टिस की जाती है।

2-3 महीने वर्चुअल ट्रेड करने के बाद जब थोड़ा बहुत समझ आ जाए की मार्केट कब ऊपर जाता है कब नीचे आता है तो आप कम पैसे से ट्रेडिंग की शुरुवात कर सकते है।

ट्रेडिंग करने के लिए आपको एक डीमैट अकाउंट की जरूरत पड़ेगी । जिसे किसी best demat broker के पास अकाउंट खोल सकते है।

demat अकाउंट से भी आप पेपर ट्रेडिंग कर सकते है। जब मार्केट सुबह खुले तब चार्ट देखकर अपनी ट्रेड पेपर पर लिख ले और मार्केट बंद होने पर देखे की क्या मार्केट आपकी दिशा में गया अगर आपने रियल ट्रेड ली होती तब आपका कितना प्रॉफिट होता।

डिमैट अकाउंट खोलने के बाद ट्रेड लेना बहुत आसान होता है। मान लीजिए की आप निफ्टी में ऑप्शन ट्रेडिंग लेना है तो इसके लिए ऑप्शन चैन खोलिए स्ट्राइक प्राइस चुनिए और अपना ऑर्डर लगा दीजिए।

trading से सच में एक दिन में होता है पैसा डबल

आपने बहुत सी स्कीम के बारे में सुना होगा जो दावा करती है पैसा डबल करने का दावा करती है। कोई 10 दिन में तो कोई 15 दिन में। पर आपको उनकी सच्चाई पता होगी। या तो वह गैंबलिंग होगी या फिर fraud।

परंतु स्टॉक मार्केट ट्रेडिंग न तो गैंबलिंग है और ना ही fraud फिर भी यहां एक दिन में पैसा डबल किया जा सकता है। इसके लिए स्टॉक मार्केट की लर्निंग और समझ चाहिए जो केवल प्रैक्टिस से ही आ सकती है।

हर दिन पैसा डबल करने की सोच रहे हो तो यह possible नही है

FAQ

आपको हमारी पोस्ट trading kya hai कैसी लगी अगर अभी तक अपने demat account नहीं खोला है तो नीचे दी गई लिंक से खोल सकते है जिससे आप ऑफर का लाभ ले सकते है साथ ही 500 रूपए तक के फ्री स्टॉक और रेफेरल बोनस मिलेगा

Leave a Comment

close button